Friday , September 17 2021
Breaking News
Home / जालंधर / निहंग सिंहों के वेष में व्यक्ति के हाथ काटने की घटना दर्शाती है कि कानून व्यवस्था का बेड़ागर्क हुआ 

निहंग सिंहों के वेष में व्यक्ति के हाथ काटने की घटना दर्शाती है कि कानून व्यवस्था का बेड़ागर्क हुआ 

जालंधर : अमृतसर में निहंग सिंह के वेश में आए लुटेरों द्वारा एक व्यक्ति का हाथ काटना इस बात को दर्शाता है पंजाब में कानून व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा चुकी है। अगर इन जैसे अपराधियों पर नकेल नहीं कसी गई तो यह आम लोगों के लिए मुसीबत खड़ी कर सकते हैं। यह कहना है शिवसेना बाल ठाकरे के प्रधान रोहित जोशी का। रोहित जोशी व काला बाबा ने कहा कि जो लोग निहंग सिंह के वेश में ऐसा कर रहे हैं पुलिस को उन पर सख्त से सख्त कार्रवाई करनी चाहिए। शिवसेना नेता ने कहा कि उन्होंने हाल ही में पता चला था कि कंबो में मात्र 15 सौ रुपये के लिए फाइनांस कंपनी के मुलाजिम का हाथ काटने के मामले में पुलिस अभी तक लुटेरों का सुराग नहीं लगा पाई है। निहंग सहित दोनों आरोपियों तक पहुंचने के लिए पुलिस ने मंगलवार को कुल 23 कैमरे खंगाले लेकिन यह पता नहीं लग सका है कि लूट के बाद बाइक सवार दोनों आरोपी किस गांव में घुसे हैं। रोहित जोशी ने कहा कि मालेरकोटला को जिला घोषित करके कैप्टन सरकार ने यह साबित कर दिया है कि वह धर्म के नाम पर राजनीति कर रही है। उन्होंने कहा कि मालेरकोटला को जिला घोषित करना गलत है। जोशी ने कहा कि कैप्टन ने कहा कि ईद के दिन यह मुस्लिम समुदाय को भेंट है । इससे स्पष्ट है कि यह निर्णय पांथिक आधार पर तुष्टिकरण की नीति और वोट बैंक की राजनीति से प्रेरित है। कांग्रेस तुष्टिकरण की राजनीति को हमेशा से बढ़ावा देती आयी है। साम्प्रदायिक आधार पर जिले की घोषणा करके कैप्टन अमरिंदर ने संविधान के साथ छलावा किया है। जिले की रचना कभी भी एक सम्प्रदाय बाहुल शहरो को साथ जोडऩे से नहीं होती बल्कि सभी नागरिकों को मूलभूत सुविधाएँ आसानी से उपलब्ध हो एवं समस्याओं का त्वरित निवारण हो इस आधार पर की जाती रही है। कैप्टन सरकार का यह निर्णय सामाजिक सौहार्द की भावना को धूमिल करता है।

About Front Page

Check Also

पंजाब में दलित समाज भाजपा ने दलित ग्रंथी सिंह को गिरफ्तार करने तथा दलितों पर हो अत्याचार का किया विरोध

।जालंधर: 21 मई (रमेश कुमार), प्रदेश में दलितों के हो रहे शोषण तथा अत्याचार पर …