Wednesday , July 15 2020
Breaking News
Home / जालंधर / केंद्र सरकार राष्टहित मे इंडियन आयल पंजाब के जनविरोधी टैंडर पॉलिसी लीक घोटाले की जाँच करवाए-यूनीयन नेता

केंद्र सरकार राष्टहित मे इंडियन आयल पंजाब के जनविरोधी टैंडर पॉलिसी लीक घोटाले की जाँच करवाए-यूनीयन नेता

 इंडियनआयलके टैडर पोलसी लीक घोटाले की प्रधानमंत्री मोदी से सी.बी.आई जाँच करने की मांग करते ऑयल टैंकर ट्रांसपोटर

जालंधर 12  जून( रमेश कुमार) 

इंडियन आयल की तरफ से पेट्रोल डीज़ल की सप्लाई हेतु ट्रांसपोटरो के लिए जालंधर बठिंडा संगरूर टर्मिनल पर निकाले नए टेंडर की पालिसी लीक के खिलाफ जालंधर,संगरूर एवं बठिंडा के प्रभावित ट्रांसपोटरो ने एकजुट होकर आज देश के प्रधानमंत्री मोदी से इंडियन आयल के टेंडर की कारवाई  शुरू होने से से पहले लीक हुयी पालिसी की सी.बी.आई जाँच करवाने के लिए पत्र लिख कर मांग की |इस बारे जानकारी देते हुए यूनियन नेताओ ने बताया की टैंडर पालिसी लीक हुयी है,उसके प्रमाण भी मिल गये है क्युकी अभी टेंडर का आवेदन नही हुआ किसी आदमी ने टैंडर अप्लाइ नही किया था तो जालंधर के मेहरा आयल ट्रांसपोटर  एवं उसके सहयोगियों  के ड्राइवर हेल्परों ने कैसे अपने मेहरा आयल करियर  के लैटर पैड पर पंजाबी में प्रेस नोट लिख 4 जुन को जारी कर खबर लगवा दी की उनको टेंडर मिल गया है सब खुश है।जिसके बाद  मेहरा आयल करियर के पार्टनर ने अपनी एवं इंडियन आयल के अधिकारियो की मिलीभगत से लीक हुयी टेंडर पॉलिसी की सच्चाई छुपाने एवं सबको गुमराह करने के लिए दोबारा झूठी प्रेस कांफ्रेंस बीते 8 जून सोमवार को करके कहा की उनका लेटर पेड चोरी हो गया था जबकि असलियत में मेहरा आयल के बेटे पियूष मेहरा ने अपने मोबाइल नंबर 9914319287 से जारी किया था तो कैसे माना जाये की  मेहरा आयल करियर का लेटर पेड चोरी हुआ था| इतना ही नहीं टेंडर पालिसी लीक  होने की वजह से  मेहरा आयल करियर  ट्रांसपोटर के सहयोगियों ने टेंडर आने से पहले ही नए टेंडर नियम में मिलनी वाली सभी प्राथमिकताओं के अनुसार छोटे बड़े टैकरो का कॉम्बिनेशन तैयार कर हर वो नियम के अनुरूप तैयारी कर ली है जिस से उनको टैंडर मिलना सुनिश्चित है|इतना ही नहीं इंडियन आयल के अधिकारियो की मिलीभगत का एक सबूत यह भी है की जिन ट्रांसपोटरों को टेंडर लीक होने की वजह से लाभ मिल रहा हैं उन पर इंडियन आयल के अधिकारी पहले से ही मेहरबान है की जालंधर में हिमाचल के लिए टैंको को पंजाब में चलवा रहे है और उनके दो छोटे टैंकर 12 हज़ार लीटर वाले 22 हज़ार लीटर मे बदल दिए दूसरी तरफ जो इस नई निति से प्रभावित ट्रांसपोटर है उनकी 12 हज़ार लीटर वाली गाड़िया 14 एवं 22 हज़ार लीटर में नहीं बदल रहे जो साबित करता है की इंडियन आयल के अधिकारी दोहरी निति से कार्य कर रहे है|सभी ट्रांसपोटरो ने कहा हम इंडियन आयल की इस जनविरोधी नई टेंडर निति का विरोध करते है और किसी कीमत पर हम सब अपने 1500 के क़रीब ड्राइवर,हैल्परो एवं अपने कर्मचारियों के परिवारों के साथ अन्याय नही होने देगें|इस टेंडर निति की वजह से सब को क़र्ज़दार होने से बचाने के लिए सोमवर को जिला प्रशासनिक अधिकारियो को इस मामले में केंद्र सरकार एवं पंजाब सरकार से सहयोग के लिए मांगपत्र देकर वीरवार 18 जून से मजबूरन अनिश्चितकाल के लिए हड़ताल कर संघर्ष करेंगे|यूनियन नेता किशनलाल शर्मा एवं बहादुर सिंह ने बताया की पंजाब के इंडियन आयल अधिकारियो ने जो 21 दिन के लिए टेंडर एक्सटेंड करने का खेल खेला है उससे यह मामला हल होने वाला नहीं क्युकी इस एक्सटेंड टाइम में अधिकारी एवं कुछ ट्रांसपोटर मिलकर इसी जनविरोधी टेंडर को करवाने एवं टैंडर पालिसी लीक वाले घोटाले को दबाने का प्रयास क्र रहे है जिसके लिए देश के प्रधानमंत्री नरिंदर मोदी जी,पेट्रोलियम मंत्री धरमिंदर प्रधान जी,चेयरमैन इंडियन ऑयल संजीव सिंह जी को तुरंत राष्ट्रहित में इस मामले की सी.बी.आई जांच के निर्देश देने चाहिए|जिसकी वजह से हज़ारो लोगो से होने अन्याय एवं सरकारी एवं गैर-सरकारी बैंको के करीब 125 करोड़ो के आर्थिक नुकसान को रोका जा सकता है|इस अवसर पर सभी ट्रांसपोटर मौजूद थे|         

About Front Page

Check Also

ਪਾਲਘਰ ਚ’ ਸਾਧੂਆਂ ਦੀ ਦਰਦਨਾਖ ਹੱਤਿਆ ਤੇ ਚੁੱਪ ਰਹਿਣ ਵਾਲੀ ਕਾਂਗਰਸ ਦਾ ਗੈਂਗਸਟਰ ਲਈ ਪਿੱਟਸਿਆਪਾ ਕਿਉਂ ਨੀ ਰੁਕ ਰਿਹਾ-ਪ੍ਰਸ਼ੋਤਮ ਗੋਗੀ

ਫਰੰਟ ਪੇਜ (ਰਮੇਸ਼ ਕੁਮਾਰ) ਜਿਸ ਰਾਤ ਮਹਾਰਾਸ਼ਟਰ ਦੇ ਪਾਲਘਰ ਵਿੱਚ ਦੋ ਸਾਧੂਆਂ ਦੀ ਬੜੇ ਦਰਦਨਾਖ …