Tuesday , August 11 2020
Breaking News
Home / क्राइम / स्मार्ट की बजाय क्राइम सिटी में तब्दील होता जा रहा जालंधर…

स्मार्ट की बजाय क्राइम सिटी में तब्दील होता जा रहा जालंधर…

जालंधर (गुरदीप सिंह) :

जालंधर स्मार्ट सिटी की जगह क्राईम सिटी में तब्दील होते जा रहा है जिसका सबूत जालंधर बस स्टैंड में साफ तौर पर दड़े सट्टे की दुकानें देख कर पता चलता है। पुलिस चुपचाप तमाशा देखती नजर आती है। जालंधर बस स्टैंड में दो करिंदे गुल्लू और मंगू सरेआम दड़े सट्टे की दुकानें चला रहे हैं। कुछ ही कदमों में बस स्टैंड चौकी भी लगती है, पर आज तक कोई भी कार्यवाही नहीं हुई। इससे साफ जाहिर होता है की पुलिस की कुछ काली बकरियां भी शामिल है। तभी तो इन सट्टेबाजों को ऐसे काम करने की धांधली मिलती है।

गुल्लू और मंगू अपने आप को शहर का नामी कारिंदा और बस स्टैंड का प्रधान भी बताते हैं और कहते हैं कि हम जैसे ऊंची शख्सियत को कोई भी उच्च अधिकारी हाथ नहीं डाल सकता। आपको यह भी बता दें कि गुल्लू पहले मैच फिक्सिंग का भी बादशाह रह चुका है।यह लोग दीमक की तरह हमारे देश के नौजवानों में जुआ खेलने की लत तो लगवा रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ देश का पैसा भी खा रहे हैं।यह दोनों गरीबों का खून पीकर अपना घर तो भर लेते हैं। गरीबों के घर में चूल्हा जलाने वाली लकड़ियां तक जुए की लत लगाकर छीन लेते हैं।यह लोग कंप्यूटर से पर्ची ना निकाल कर खुद की पर्ची लिखते हैं और सरकार के पैसे भी खा जाते हैं जिससे सरकार को करोड़ों का नुकसान होता है पर इन करिंदों के अपने घर भरे रहते हैं। अब देखना यह है बस स्टैंड चौकी के इंचार्ज और थाना 6 के प्रभारी इन पर क्या कार्रवाई करते हैं या वह भी इनसे पैसे खा रहे हैं तभी तो अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। जिस शहर की पुलिस ही करप्शन को बढ़ावा देती हो उस शहर को स्मार्ट सिटी का दर्जा कैसे दिया जा सकता है।

इस संबंधित जब बस स्टैंड चौकी के इंचार्ज मदन सिंह से बात की गई तो उन्होंने पल्ला झाड़ते हुए कहा कि मैं अभी बिजी हूं। थोड़ी देर तक बात करता हूं, जिससे वह भी शक के दायरे में आते हैं।

About Front Page

Check Also

इनोसैंट हाट्र्स ग्रुप ऑफ इंस्टीटयुशंस में नए पाठ्यक्रम डिप्लोमा इन डिजीटल मार्किटिंग होटल मैनेजमैंट और बी.एस.सी. माइक्रोबायलोजी आरंभ किए गए

जालन्धर, 4 अगस्त : इनोसैंट हाट्र्स ग्रुप ऑफ इंस्टीटयुशंसन का संचालन बोरी मैमोरियल एजुकेशन एंड …