Tuesday , August 11 2020
Breaking News
Home / देश / चुनावी मैदान में उतरे सुखबीर बादल, पंजाब में अकाली-भाजपा गठबंधन के 11 उम्मीदवार घोषित

चुनावी मैदान में उतरे सुखबीर बादल, पंजाब में अकाली-भाजपा गठबंधन के 11 उम्मीदवार घोषित

शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल चुनाव मैदान में उतर गए हैं। शिअद-भाजपा गठबंधन की तरफ से 11 उम्मीदवारों की घोषणा की जा चुकी है। वहीं कांग्रेस और पंजाब डेमोक्रेटिक पार्टी ने 13 की 13 सीटों पर उम्मीदवार उतार दिए हैं। सुखबीर बादल के चुनाव मैदान में उतरने से फिरोजपुर सीट पर मुकाबला कड़ा हो गया है। सुखबीर बादल पंजाब के दो बार उप मुख्यमंत्री भी रह चुके हैं और वाजपेयी की सरकार के समय उन्हें केंद्रीय उद्योग राज्य मंत्री भी बनाया गया था। सुखबीर बादल अब तक 4 बार लोकसभा चुनाव लड़ चुके हैं, जिनमें से तीन बार जीते और एक बार हार का सामना करना पड़ा था। सुखबीर बादल अब 5वीं बार लोकसभा चुनाव में अपनी किस्मत आजमाने जा रहे हैं।

कौन हैं सुखबीर बादल

सुखबीर बादल का जन्म 9 जुलाई 1962 में फरीदकोट में माता सुरिन्दर कौर के घर हुआ। सुखबीर बादल ने अपनी प्राथमिक शिक्षा लारेंस स्कूल मनावर से हासिल की। सुखबीर बादल ने 1980 से 1984 तक पंजाब यूनिवर्सिटी चंडीगढ़ से अर्थशास्त्र में एम.ए. की डिग्री हासिल की। सुखबीर बादल ने अपनी एम.बी.ए. की पढ़ाई कैलिफोर्निया स्टेट यूनिवर्सिटी लॉस एंजल (अमरीका) से हासिल की। 11वीं और 12वीं लोकसभा में सुखबीर बादल फरीदकोट से जीते थे। 2001 से 2004 दौरान राज्यसभा मैंबर भी रह चुके हैं और 2004 में 14वीं लोकसभा के कार्यकाल के लिए फरीदकोट से फिर से चुने गए थे।

1996 में रखा राजनीति में कदम

सुखबीर बादल ने साल 1996 में अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत की थी, जहां कांग्रेस उम्मीदवार कंवलजीत कौर के खिलाफ फरीदकोट से लोकसभा का चुनाव लड़ा था। इन चुनाव में सुखबीर बादल ने 305669 वोटों से जीत प्राप्त की थी और कंवलजीत कौर को 267811 वोटें मिली थी तथा इनको सुखबीर से हार का सामना करना पड़ा था। दूसरी बार सुखबीर बादल 1998 में कांग्रेस के उम्मीदवार जगमीत सिंह बराड़ के खिलाफ चुनाव लड़े थे, जहांइनको 439749 वोटें मिली जबकि जगमीत को हार का सामना करना पड़ा। जगमीत बराड़ को 404790 वोटें मिली थीं।

1999 में सुखबीर बादल का मुकाबला फिर से कांग्रेस के जगमीत बराड़ के साथ हुआ, जहां इनको हार का सामना करना पड़ा। सुखबीर बादल को 413306 जबकि जगमीत बराड़ को 418454 वोटें मिली थीं। 2004 में सुखबीर बादल ने कांग्रेसी उम्मीदवार करण कौर बराड़ के खिलाफ लोकसभा चुनाव लड़ा था और संसद मैंबर बने थे। इनको 475928 वोटें मिली थीं जबकि करण कौर बराड़ को 340649 वोटें मिली थीं।

2008 में सुखबीर बादल शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष बने। साल 2009 में सुखबीर बादल को पंजाब के उपमुख्य मंत्री के तौर पर नियुक्त किया गया था। उस समय सुखबीर पंजाब विधानसभा के मैंबर नहीं थे परन्तु असेंबली चुनाव लडऩे के लिए और विवादों के कारण 6 महीनों की मियाद पूरी होने के बाद ही इस ओहदे से इस्तीफा दे दिया था। साल 2009 में उन्होंने जलालाबाद से विधानसभा क्षेत्र से उप चुनाव लड़ा और फिर से अगस्त 2009 में उप मुख्यमंत्री बने व 2009 से लेकर 2017 तक उप मुख्यमंत्री रहे। साल 2012 में सुखबीर फिर जलालाबाद से चुने गए और उप मुख्यमंत्री बने। साल 2017 के विधानसभा चुनाव में सुखबीर बादल ने जलालाबाद से आप के उम्मीदवार भगवंत मान और कांग्रेस के उम्मीदवार रवनीत बिट्टू को हराया था। इस दौरान सुखबीर को 75271 वोटें मिली थीं जबकि भगवंत मान को 56771 वोटें प्राप्त हुई थीं। सुखबीर बादल इस समय जलालाबाद से विधायक भी हैं।

About Front Page

Check Also

हथिनी की मौत की होगी जांच, सोशल मीडिया पर वायरल हुई दर्दनाक कहानी

हथिनी को पटाखों से भरा अनानासखिलायासोशल मीडिया पर लोगों का फूटा गुस्सा फ्रंट पेज न्यूज। …