Thursday , August 13 2020
Breaking News
Home / देश / बुराड़ी कांड में नया खुलासा, घर का मुखिया था सात दिनों से मौन व्रत पर

बुराड़ी कांड में नया खुलासा, घर का मुखिया था सात दिनों से मौन व्रत पर

नई दिल्ली  : दिल्ली के बुराड़ी में एक ही परिवार के 11 सदस्यों की संदिग्ध हालात में हुई मौत के नए-नए खुलासे सामने आ रहे हैं। इस घटना ने पूरे देश को झकझोर के रख दिया है। मसलन आखिर हंसता-खेलता भाटिया परिवार कैसे ख़त्म हो गया, इस पर राज गहराता जा रहा है। लाशों के पास मिले 6 मोबाइल की कॉल रिकॉर्ड पुलिस तलाश रही है। ये सभी फोन भाटिया परिवार के थे और इन्हें साइलेंट मोड़ पर अलमारी में रखा गया था। भाटिया परिवार के मोबाइल से पांच नंबरों पर सबसे ज्यादा कॉल की गई थी। इसे देखते हुए पुलिस नंबरों की घटना के वक्त की लोकेशन व कॉल की जांच कर रही है।

इसके अलावा भाटिया परिवार का सदस्य ललित दो फोन रखता था। इनमें से उसका एक फोन स्विच ऑफ़ मिला था। पड़ोसियों का कहना है कि वह पिछले 7 दिन से मौन व्रत पर था। ललित ही घर में आखिरी शख्स था, जो घर की छत पर कुत्ते को बांधकर घर के अंदर आया था। सीसीटीवी फुटेज में भी ललित घर के अंदर आखिर में आते हुए दिखाई दे रहा है। उधर, भाटिया परिवार के कुछ करीबियों का कहना है कि उन्हें यकीन नहीं हो रहा है कि भाटिया परिवार ऐसा कोई कदम उठा सकता है। हाल ही में उनके परिवार में प्रियंका की 17 जून को सगाई हुई थी और इसी साल के आखिर तक उसकी शादी होनी थी।

उनके पड़ोसियों का कहना है कि घर की पहली मंजिल पर 77 साल की नारायण देवी और उनके दो बेटों का परिवार रहता था। नारायण देवी, उनके बेटे भुवनेश उर्फ भूप्पी (50) और ललित (45), भुवनेश की पत्नी सविता (48) और बच्चे नीतू (25), मोनू (23) व ध्रुव (15), ललित की पत्नी टीना (42) और इकलौते बेटे शिबू उर्फ  शिवम (15) का शव मिला है। यहीं रहने वाली नारायण की विधवा बेटी प्रतिभा (57) और 33 साल की दोहती प्रियंका भी मृत मिलीं। प्रियंका की 17 जून को सगाई हुई थी। इस साल के आखिर तक उसकी शादी होनी थी।

About Front Page

Check Also

हथिनी की मौत की होगी जांच, सोशल मीडिया पर वायरल हुई दर्दनाक कहानी

हथिनी को पटाखों से भरा अनानासखिलायासोशल मीडिया पर लोगों का फूटा गुस्सा फ्रंट पेज न्यूज। …