Tuesday , October 27 2020
Breaking News
Home / देश / ईवीएम ले जा रहा ट्रक पलटा, हार्दिक पटेल ने उठाया सवाल

ईवीएम ले जा रहा ट्रक पलटा, हार्दिक पटेल ने उठाया सवाल

अहमदाबाद : गुजरात के भरूच में गुरुवार को एक ट्रक 100 इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनें (ईवीएम) लेकर जा रहा था, इसी दौरान वह पलट गया। इसके बाद पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने एक जोरदार हमला करते हुए ईवीएम के प्रति अपनी अविश्वसनीयता जाहिर की है।

पप्पुश्री राहुल बाबा के इस नये महाबेवकूफ दोस्त को समझाये कि सब काम नियम बद्ध तरीके से होता है, ईवीएम को गणना होने के पश्चात उसके डाटा को सुरक्षित कर लिया जाता है, फिर से गणना के लि हार्दिक ने ट्वीट किया, ‘फिर से काउंटिंग की मांग उठते ही ईवीएम से भरा ट्रक पलट गया। इस कांड को क्या नाम दें।’ पटेल समेत कई अन्य विपक्षी नेता गुजरात विधानसभा चुनाव के वक्त से ईवीएम में गड़बड़ी का आरोप लगा रहे थे, जिसके नतीजे सोमवार को सामने आए थे। प्रदेश में फिर से बीजेपी की सत्ता में वापसी हुई। हालांकि, बीजेपी की सीटों में कटौती हुई है। 

जानिए क्या था मामला?
भरूच डीएम के मुताबिक, ‘बेशक, पटेल का उस ट्रक से कोई लेना-देना नहीं है, जो ईवीएम को ले जाते वक्त पलट गया है। ट्रक में मौजूद ईवीएम का प्रयोग गुजरात चुनाव में नहीं हुआ था। वह मशीनें, जो पलट गई थीं उन्हें संरक्षित किया जाना था।’

View image on Twitter

हार्दिक ने पहले भी लगाए थे आरोप
सोमवार को वोटों की गिनती से पहले पटेल ने आरोप लगाते हुए ट्विटर पर लिखा था कि ईवीएम से छेड़छाड़ की कई कोशिशें की गई हैं। उन्होंने आरोप लगाया था कि अहमदाबाद की एक कंपनी के 140 सॉफ्टवेयर इंजिनियर्स ने मशीनों में छेड़छाड़ की है, खासतौर पर उन क्षेत्रों में जहां पाटीदार और आदिवासी समुदाय के लोग रहते हैं। बता दें कि हार्दिक पटेल ने पाटीदारों की ओर से बीजेपी को समर्थन न मिलने के लिए जमकर प्रचार किया था।

‘नमो’ वाई-फाई नेटवर्क मिलने की शिकायत
यही नहीं कांग्रेस ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी से इस बात की शिकायत भी की थी कि सूरत और मेहसाणा में स्ट्रॉन्ग रूम के पास ‘नमो’ नाम से वाई-फाई नेटवर्क मिला है, जहां पर ईवीएम रखी गई थीं। गुजरात में हुए दो चरणों में चुनाव के दौरान कांग्रेस ने आरोप लगाया था कि मतदान स्थल के पास ब्लूटूथ डिवाइस का इस्तेमाल किया जा रहा है, इस मामले में 44 शिकायतें दर्ज कराई गई थीं।

ईवीएम की विश्वसनीयता पर सवाल
कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने एक ट्वीट में लिखा, ‘सभी राज्यों में ईवीएम की विश्वसनीयता पर संदेह है। इसलिए हम चाहते हैं कि पुरानी प्रणाली का प्रयोग किया जाए।’

About Front Page

Check Also

लद्दाख में दो किमी पीछे हटी चीनी सेना, चार दिन से लद्दाख में बड़ी हरकत नहीं

नई दिल्‍ली (फ्रंट पेज न्यूज) लद्दाख में भारतीय सरजमीं पर कब्‍जा करने की फिराक में …