Wednesday , August 22 2018
Breaking News
Home / गुड़गांव / गांव में ठीकरी पहरा देने का फैसला, महंत योगी फतेहनाथ बोले-किसी शैतानी दिमाग का षड़यंत्र

गांव में ठीकरी पहरा देने का फैसला, महंत योगी फतेहनाथ बोले-किसी शैतानी दिमाग का षड़यंत्र

गुड़गांव। गांव जानियावास में पिछले तीन दिनों में तीन बुजुर्ग महिलाओं की चोटी कटने की घटना के बाद गांव जोहड़ वाली मंदिर परिसर में महंत बाबा योगी फतेह नाथ के नेतृत्व में पंचायत का आयोजन किया गया। इसमें गांव के सैकड़ों बुजुर्गों युवाओं ने हिस्सा लिया। पंचायत में सर्वसम्मति से फैसला लिया गया कि गांव में ठीकरी पहरा लगाया जाए और संदिग्ध व्यक्तियों के खिलाफ पुलिस में शिकायत दें। इस मौके पर महंत योगी फतेहनाथ ने बताया कि चोटी कटने के पीछे किसी गिरोह या शैतानी दिमाग का षड़यंत्र है।
इसके पीछे उद्देश्य लोगों में दहशत फैलाना हो सकता है। उन्होंने कहा कि महिलाओं में दहशत ना फैले, इसके लिए उन्हें जागरूक करना होगा। युवा वर्ग इस प्रकार की घटनाओं का मोबाइल, व्हॉट्स एप, फेसबुक, यू-ट्यूब पर प्रचार प्रसार नहीं करे। इससे महिलाओं में भ्रम की स्थिति पैदा होती है। उन्होंने बताया कि यह घटना पिछले एक सप्ताह से क्षेत्र की कई महिलाओं के साथ हो चुकी है। गांव जमालपुर की एक छात्रा की भी चोटी कट गई थी। छात्रा के परिजन बेहोशी की हालत में उसे मंदिर लाए थे। गांव ताजनगर में भी एक दो महिलाओं के साथ ऐसा हुआ, बाद में उनकी चोटी को जला दिया गया। गांव जोनियावास के पूर्व सैनिक मीर सिंह यादव की 50 वर्षीय पत्नी कमलेश देवी, बिमला पत्नी स्व. जगदीश, पूर्व सैनिक समयसिंह यादव की पत्नी विद्या देवी उम्र 60 वर्ष की चोटी कट चुकी है। इसके बाद से ग्रामीण चोटी कटवा से बचने के लिए घर के बाहर हल्दी, मेहंदी और गोबर से हाथ के निशान दरवाजे के दोनों साइड लगा रहे हैं, ताकि बुरा साया अंदर ना आए। गांव की सरपंच मीना देवी का कहना है कि गांव तीन महिलाओं की चोटी कटने की घटना ने उन्हें सोचने पर विवश कर दिया है। मामले की जांच में वो लगी हैं, ताकि इन घटनाओं का पर्दाफाश किया जा सके। पंचायत में हंसराज, रमेश, राव महेंद्र सिंह, रामेश्वर, श्योराम, मेहरचंद, जयलाल, हरीराम, सुमेर सिंह, विनोद, लाल सिंह, गांधी, सचिन गुप्ता सहित कई ग्रामीण ने हिस्सा लिया।
तीन स्थानों पर चोटी कटी, चंदू गांव में युवती के बाल कटे मिले
गुड़गांव में सोमवार रात को शहर में तीन अलग-अलग कॉलोनियों में चोटियां कटने के मामले सामने आए। वहीं चंदू गांव में भी एक युवती की चोटी के बाल कटे मिले। इससे महिलाओं में दहशत का माहौल बना है। पहला मामला गुड़गांव गांव में सामने आया। यहां कमलेश नाम की महिला परिवार के साथ सोई थी। रात करीब साढ़े 11 बजे अचानक उसका गला किसी ने दबाया। इसके बाद उसके बाल खिंचने लगे। उन्होंने काफी छुड़ाने का प्रयास किया, लेकिन नहीं छुड़ा पाई। उसने अपने पास सोए बेटे को उठाने की कोशिश की, लेकिन उसने उसका हाथ पकड़ लिया। इसी दौरान किसी ने उसके बाल काट दिए और भाग निकला। गला दबाने के कारण उसे सांस लेने में दिक्कत होने पर परिजन सिविल अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां उनकी हालत को देखते हुए एडमिट किया गया। उधर, कृष्णा नगर में 13 वर्षीय बच्ची के साथ मंगलवार सुबह बाल काटने की घटना घटी। नेहा परिवार के साथ सोई थी। अचानक उसके पास सोई बहन को कोई मशीन चलने की आवाज आई, जिससे वह जाग गई। उसे कमरे में किसी के होने का आभास हुआ तो उसने शोर मचा दिया। इस पर घर में सोए अन्य लोग जाग गए और कमरे की लाइट जलाई। इस दौरान उन्होंने पाया कि नेहा कमरे में बेसुध पड़ी है और उसके बाल कटे हैं। इस पर वे उसे अस्पताल ले गए। बसई रोड स्थित विश्वकर्मा कॉलोनी में 32 वर्षीय महिला की चोटी कटने का मामला सामने आया है। यहां महिला मौजूद थी कि अचानक उसके बाल गिरने लगे। इस पर यहां पास में मौजूद एक बच्चा चिल्लाया। महिला ने बाल गिरते देखे तो वह सन्न रह गई। इसके अलावा एक मामला चंदू गांव से सामने आया है जहां एक युवती की चोटी कट जाने का मामला सामने आया है।

About Front Page

Check Also

स्पा की आड़ में देह व्यापार का भंडाफोड़, दो लड़कियां गिरफ्तार

गुरुग्राम। हरियाणा के गुरुग्राम सेक्टर-56 थाना पुलिस ने स्पा सेंटर की आड़ में चल रहे देह …