Friday , October 19 2018
Breaking News
Home / धर्म-कर्म / दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान द्वारा श्री गुरू रविदास महाराज जी का प्रकाश उतसव मनाया

दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान द्वारा श्री गुरू रविदास महाराज जी का प्रकाश उतसव मनाया

दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान द्वारा बस्ती नौ में श्री गुरू रविदास महाराज जी का प्रकाश उतसव मनाया गया। उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए श्री आशुतोष महाराज जी के शिष्य साध्वी नीतीविदा भारती जी ने कहा कि युगपुरूष जब इस धरा पर आते है तो जगत में उजियारा, नवचेतना और नवसृजन का संचार करते है। विश्व धरा के आंचल पर इक अजब करिशमा कर प्रत्येक हृदय को एक सूत्र में पिरो देते है, 1योंकि यह मातृभूमि ऋ षियों की भूमि है। अज्ञानता के अंधकार में डूबे इस समाज को ज्ञान के दीपक से अलोकित कर वक्त की सोई हुई रूहों को जगाने के लिए समय समय पर संत महापुरूष इस धरा पर अवतरित होते हैं। और ऐसे ही एक महापुरूष हुए हैं संत रविदास जी। गुरू रविदास महाराज जी एक महान तत्वदृष्टा सतगुरू, दिव्य संस्कृत के पोषण, राष्ट्र के सृजन और अध्यात्म की प्रचंड क्रांति है जिन्होंने आंधियों के विरूद्ध एक ऐसी श6मा जलाई और बिखरी हुई भावनाओं को समेट कर प्रत्येक हृदय को एक किया, ऊँच नीच का भेद मिटा कर समाज की सूरत बदल दी, रूढ़िवादिता की जंजीरों को तोड़ कर जागृति का आगाज़ किया , मानव के भीतर क्रांति का सूर्य उदय करके सत्य के पथ से जोड़ दिया और अमावस की काली रातों में नया सवेरा कर दिया।
साध्वी जी ने कहा कि आज भी मानव को ऐसे तत्वदृष्टा गुरू की ज़रूरत है 1योंकि आज का मानव भी अपराध जगत का नायक बन चुका है, रक्षक भक्षक बन चुका है । आज मानव में दानव जाग उठा है , रिश्तों की पवित्रता मिटट्ी में मिल रही है इसलिए आज जरूरत एक पूर्ण सतगुरू की जिसके द्वारा एक मानव ब्रहमज्ञान द्वारा ईश्वर का साक्षातकार अपने अंर्तजगत में करके दुनिया को बदल सकता है।
इस अवसर पर साध्वी त्रिनैना भारती जी साध्वी मनजीत भरती जी ने साण्वी जसप्रीत भारती जी ने महापुरूषों की पवित्र वाणी एवं भजन संर्कीतन का गायन भी किया।

About Front Page

Check Also

गीता मंदिर में एेसी मनाई जन्माष्टमी कि दिखा वृंदावन का नजारा, पुलिस कमिश्नर व डीसी भी हुए नतमस्तक… देखिए तस्वीरें…

जालंधर (फ्रंट पेज ब्यूरो): नंद के आनंद भयो, जय कन्हैया लाल की.. सुबह से मॉडल …