Saturday , December 15 2018
Breaking News
Home / धर्म-कर्म / दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान द्वारा स्वामी विवेकानन्द जयंती के शुभ अवसर पर अमृतसर बाईपास पर बिधीपुर आश्रम में भजन प्रभात (दिव्य क्रांति )प्रोग्राम

दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान द्वारा स्वामी विवेकानन्द जयंती के शुभ अवसर पर अमृतसर बाईपास पर बिधीपुर आश्रम में भजन प्रभात (दिव्य क्रांति )प्रोग्राम

दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान द्वारा स्वामी विवेकानन्द जयंती के शुभ अवसर पर अमृतसर बाईपास पर बिधीपुर आश्रम में भजन प्रभात (दिव्य क्रांति )प्रोग्राम आयोजन किया गया। उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए श्री आशुतोष महाराज जी की शिष्या साध्वी सुमेधा भारती जी ने कहा कि स्वामी विवेकानन्द जी ने युवाओं को क्रातिकारी विचार दिये ‘उठो जागो और तब तक रूको नही जब तक अपनी मंजिल तक न पहुच जाओ ’। राष्ट्र चेतना के कीर्ति पुरूष युवा वर्ग के आदर्श योद्धा स्वामी विवेकानंद जी युवा पीढ़ी के लिए प्रेरणा का स्त्रोत है। एक युवा संयासी के रूप में भारतीय संस्कृति की सुगंध विदेशों मे बिखेरने वाले साहित्य दर्शन और इतिहास के प्राकंड विद्वान अपनी ओज पूर्ण वाणी से लोगों के दिल को छू लेने वाले स्वामी विवेकानंद जी नि:संदेह विश्व गुरू थे। स्वामी विवेकानंद जी ने राष्ट्र निर्माण में युवाओं की भूमिका को महत्वपूर्ण माना है, उनका मानना था कि नौजवान पीढ़ी अगर अपनी ऊर्जा का इस्तेमाल देश की तरक्की में करें तो राष्ट्र को एक नए मुकाम तक पहुँचाया जा सकता है 1योंकि युवा ही वर्तमान का निर्माता एवं भविष्य का नियामक होता है। देश की युवा पीढ़ी पर उनकी विशेष आस्था थी, उन्होंने कहा था- तुम सबका जन्म ही इसीलिए हुआ है अपने में विश्वास रखो महान आत्म विश्वास से ही महान कार्य संपन्न होते है, निरंतर आगे बढ़ते रहो। विश्व में जितने भी महत्वपूर्ण परिवर्तन हुए हैं उसमें सभी में युवाओं के लगन और बलिदान का अतुलनीय योगदान रहा है। शायद इसलिए कहा जाता है जिस ओर जवानी चलती है, उस ओर जवानी चलती है। हमारी युवा श1ित देश की तकदीर और तस्वीर बदलने का जज्बा रखती है। एक नया आइना दिखाने की क्षमता रखती है। अनुभवी लोगों का मार्गदर्शन हमारी युवा श1ित को अपनी सकारात्मक ऊर्जा राष्ट्र हित में लगाने को प्रेरित करता है। इसलिए आज युवाओं को संकल्प लेना होगा कि राष्ट्र के सन्मुखा आज जितनी भी चुनौतियाँ हैं हम उनका डटकर सामना करेंगें। सर जे6स के श4दों में युवा ऐसा पक्षी है जो टूटे हुए अंडे और बेबसी से स्वतंत्रता और आशा के खुले आसमान में पंख फै ला रहा है 1योंकि युवा खोज और सपनों के द्वारा अपने देश को समृद्धि प्रदान कर सकता है। इस अवसर पर स्वामी विवेकानन्द जी के जीवन और शिक्षाओ से सं6बन्धित युवाओ को एक नाटक भी दिखाया गया ,इस मौके पर स्वामी विशवानन्द जी स्वामी सदानन्द जी डा राजबीर जी डा मुकेश गुप्ता प्रैजीडैट सती खोखेवालिया (राइटर एड सिगर) रशिम महाजन(माडरन सरजीकल हाऊ स)विकी बलूजा(वाइस चैयरमैन) बलवीर भटी (एस पी होशियारपुर) अमित सहगल (अलैकट्रीकल ऐसोसीसेशन) सुरेश अरोडा (प्रैजीडैट सिटी काग्रेस) आर एल सैलीप्रिंस अरोडा राजेश कोहली मौजूद थे।

 

About Front Page

Check Also

11 नवंबर 2018 यानि आज का राशिफल: इन राशि वालों के आज बिगड़ते काम भी अचानक सुधर जाएंगे

1. मेष राशि : आपकी लगन और मेहनत पर आज लोग ग़ौर करेंगे और आज इसके …